चिडिया चोंच भर ले गई नदी न धटीया निर।
धर्म कीये धन ना घटे कह कये दास कबीर।।
कोशीवाडा एवं मोखाडा दोनो ही गांवो के कुछ ऐसे भामाशाहो के नाम है जिन्होने समय समय पर अपनी जन्मभुमी एवं अपने गांव के सार्वजिनक हित में कई कार्य किये है। यहां भामाशाहो के नामो एवं उनके कार्यो का जिक्र करने का उद्देश्य लोगो को प्रेरित करना मात्र है। साथ ही विशेषकर युवापीढी गांव के विकास के लिए आगे आए और यथासम्भव अपनी जन्मभुमी के विकास के लिए सहयोग करे।

सहयोगस्मृ​ित मेंसोजन्य सेयोजना
श्रीम​ित श्‍​र्ंगारबाई डागलिया राजकिय आर्युवैदिक औषधालय
स्व. श्री म​ित श्रृंगाार बाई प​ित्न श्री पृथ्वीराज डागलिया सुपुत्र श्री तोलाराम, मगनलाल, अम्बालाल, खेमराज, भुरालाल डागलिया
राजकिय आर्युवैदिक औषधालय भवन निर्माण
स्व. श्रीम​ित कंचनबाई डागलिया श्री रतनलाल डागलिया अपना गाॉंव अपना काम
सामुदायिक भवन निकट गा्रम पंचायत भवन कोशीवाडा
स्व. मोहनी बाई व स्व. चुन्नीलाल जी डागलिया सुपुत्र श्री गम्भीरमल डागलिया
कबुतर खाना कोशीवाडा चौराया
स्व. श्रीम​ित सुन्दरबाई डागलिया श्री कालुलाल डागलिया
प्याउ सराय झांझेला चौराया
स्व. श्री बाबुलालजी श्री प्यारचन्द,श्री डालचन्द छाजेड हस्ते सुरेश जी
प्याउ सराय चकतोडी चौराया
स्व. श्रीम​ित श्री जयचन्द डागलिया
शमशान घाट नागेला कोशीवाडा
स्व. श्रीम​ित श्री हिरालाल ​िपता प्रतापमल राठौड
टीन शेड चबुतरा कोशीवाडा चौराया
स्व. श्रीम​ित श्री मोहन लाल डागलिया
महादेव जी मन्दिर का पुनर्निर्माण
स्व. श्रीम​ित श्री ताराचन्द ​िपता श्री धुलचन्द जी राठौड
प्याउ निमार्ण दर्जियों का मोहल्ला
स्व. श्रीमति केसर बाई धर्मपत्नि श्री सवाई लाल एवं सुपुत्र स्व श्री देवीलाल श्री सवाईलाल पुरोहित