News
Submitted by Surendra Purohit on 2013-06-01 14:01:12
Post News | Show All News

कोशीवाडा का पहला छप्पन भोग महोत्सव

कोशीवाडा शुक्रवार को गांव के नवयुवको द्धारा भगवान लक्ष्मीनारायण जी के आयोजित कीया गया छप्पन भोग महोत्सव गांव के इतिहास का पहला एवं यादगार महोत्सव बना। सवेरे 7 बजे से ही सभी समाज के युवा लक्ष्मीनारायण जी के मन्दिर में एकत्रित हो गये एवं छप्पन भोग महोत्सव की तैयारी में जुट गये। जिसमें सबसे पहले मन्दिर की अच्छे से सफाइ्र्र, बाहर से पुताई एवं साज सज्जा का कार्य शुरु कीया। सांय 4 बजे जैसे ही बैन्ड बाजे बजना शुरु हुआ गांव की सभी महीलाएं सज संवर हाथ में थाली लिये मन्दिर में एकत्रित होना शुरु हो गयी। सभी युवाओं ने ठाकुर जी के छप्पन भोग को छाबडे एवं खाकरे के पत्तल दोनो में सजाने का कार्य कीया। सांय 5 बजें बैन्ड बाजो के साथ ठाकुर जी की झांकी के साथ 56 महीलाओं ने प्रसाद को सिर पर थाली में उठा रखा था एवं राम, लक्ष्मण एवं हनुमान जी के द्धारा अगवानी की जा रही इस झांकी में सभी समाज के श्रृद्धालुओं ने भाग लिया। झांकी में युवाओं ने बैन्ड बाजो की धुन पर नाचने का खुब आनन्द उठाया। घुमादे मारा बालाजी घुमर घुमर गोटो पर हनुमान जी का भेष बनाये ललित टेलर उर्फ गांधी ने सबका दिल जीत लिया। लगभग 2 घन्टे तक चली इस झांकी के बाद महीलाओं मन्दिर के बाहर घुमर एवं अन्य राजस्थानी गीतो पर नृत्य का आनन्द लिया।
सांय 7 बजे सभी श्रृद्धालुओं ने ठाकुर जी की आरती की एवं पंडीत मनोहर लाल ने ठाकुर को छप्पन भोग का प्रसाद जिमाया। ठाकुर जी के जयकारो के साथ लोगो का प्रसाद वितरण कीया गया प्रसाद के लिये मन्दिर के बाहर काउन्टर लगाये गये जहां लोगो की खुब भीड लगी।
गांव के बुजुर्गो एवं महीलाओं ने युवाओं के द्धारा आयोजित गांव के प्रथम छप्पन भोग महोत्सव के सुन्दर आयोजन के लिए खुब सराहना की एवं युवाओं को भविष्य में भी इस तरह के और आयोजन करने के लिए कहा।