News
Submitted by Surendra Purohit on 2013-09-23 13:18:13
Post News | Show All News

कगांली में आटा गीला

कोशीवाडा बारिश का दोर दुबारा शुरु हो गया। कीसानो की स्थिती इन दिनो भयकंर खराब हो गयी। वर्षा के अभाव में फसलो की स्थिती पहले ही खराब हो चुकी हैं अब उपर से ये बारिश। राजस्थान का धान कहा जाने वाली मक्का की फसल पानी के अभाव में सुख चुकी हैं जैसे ही भुट्टा लगने की बारी आयी और बारिश चली गयी जिससे भुट्टे का विकास नही हो पाया। वर्षा के अभाव में मात्र 25 प्रतिशत उत्पादन होने की सम्भावना थी मगर अब तो वो भी मुश्कील हैं पिछले दो तीन दिनो से वर्षा का जो दोर चला है उससे कीसानो की स्थिती और खराब हैं। फसले वैसे ही सुख चुकी हैं अब बारिस को देख कर कीसानो को ऐसा लग रहा हैं कि फसले और अनाज खेतो में ही सडेगें। वर्ष भर के खाने के लिए अनाज, पशुओ के आहार एवं अगली फसल की बुवाई को लेकर कीसानो के चेहरे पर चिन्ता की रेखाएं साफ दिखने लगी हैं। कीसानो को अब राम रुठ जाने के बाद राज से आशा लगा रखी हैं कि वो कोई मदद करेगा।