News
Submitted by Surendra Purohit on 2013-11-06 13:23:59
Post News | Show All News

सीताफल के सीताफल और गुटलीयो के भी दाम

कोशीवाडा मेरीजन्मभुमि डाट काम द्धारा गा्रमीणो के जीवन स्तर में सुधार एवं आर्थिक प्रगति के लिए कीए जा रहे प्रयासों में एक नया अध्याय जोडते हुए मेरीजन्मभुमि केन्द्र पर सीताफल की गुटली क्रय करने का काम प्रारम्भ कीया। सामान्यतया सीताफल गांव में बहुतायात में पाया जाता हैं। सीताफल को खाने में बची हुयी गुटली का लोग कोई उपयोग नही लेते हैं तथा उसको व्यर्थ में फेंक देते हैं। मेरीजन्मभुमि की टीम ने इसको ध्यान में रखते हुए इसकी उपयोगिता एवं उपादेयता को समजते हुए उनको क्रय करने का कार्य प्रारम्भ कीया जिससे लोगो को आर्थिक लाभ होगा। गा्रमीण अपने दैनिक गुजर बसर के लिए जो प्रयास करता हैं उसके बाद भी बमुश्किल गुजारा कर पाता हैं। इस मौसम में बोर एवं सीताफल भी आय के प्रमुख साधन होते हैं। एसे मे गुटली के भी दाम मिलने लगे जिससे गा्रमीणो की आय में अवश्य ही इजाफा होगा। मेरी जन्मभुमि के चार गांवो कोशीवाडा, गांवगुडा, शिशोदा एवं झालो की मदार में फैले हुए अपने नेटवर्क से क्रय करने का कार्य शुरु कीया। कोशीवाडा में सीताफल गुटली के क्रय करने का कार्य मेरीजन्मभुमी केन्द्र सेलिबे्रशन डिजीटल स्टुडीयो कुम्हार मोहल्ला पर कीया जा रहा हैं। अतः आप भी अपने गा्रमीण भाइयो विकास के लिए इस सुचना को अधिक से अधिक लोगो तक तक पहुचांये।