News
Submitted by Surendra Purohit on 2014-01-09 13:32:58
Post News | Show All News

निखरने लगा शिव आश्रम

कोशीवाडा योगी गणेशनाथजी के प्रयासो से शिव आश्रम आइतीयों का खादर धीरे धीरे विकास की तरफ बढ रहा हैं। लोग इस आश्रम को माराज की कुडी के नाम से भी जानते हैं तथा इस धुणी की स्थापना बल्लो की भागल के सन्त पन्चमपुरीजी ने की थी। उनके वैरो के मठ आश्रम पर चले जाने के बाद काफि लम्बे समय तक यह धुणी बेझान और खन्डहर के रुप में पडी थी। उसके उपरान्त गांव के ही बाबरिया तलाई के हमेरसिंह ने दीक्षा ले इस धुणी पर अपना आसन लगाया परन्तु उम्र की अधिकता के कारण धुणी का विशेष विकास नही कर पाये।
गणेशनाथजी को अभी आये लगभग 6 महीनो के आसपास का ही समय हुआ हैं परन्तु उनके आने के उपरान्त धुणी के प्रति लोगो की आस्था एक बार पुनः जाग्रत हो गयी। नये सन्त ने अपने इस आश्रम का नाम शिव आश्रम रखा हैं। वर्तमान में यहा चारदीवारी निर्माण व समतलीरण का कार्य चल रहा हैं। आश्रम पर 5 से 10 हजार लोग एक साथ बैठ सके तथा एक दो हजार लोग एक साथ भोजन कर सके ऐसा निर्माण कार्य चल रहा हैं। आश्रम के विकास के लिए स्थानीय गांव के साथ साथ अन्य श्रृद्धालुओं द्धारा भी सहयोग दीया जा रहा हैं। चकतोडी की भागल के एक श्रृद्धालु ने पानी के लिए मोटर पाईप व इसके लिए आवश्यक अन्य सामगी्र भेंट की हैं। आंजना के श्रृद्धालु ने भी अपना विशेष सहयोग दिया हैं एसे ही पानी की टंकी के निर्माण के लिए लालेला झालो की मदार के एक श्रृद्धालु ने 51 हजार का सहयोग देने के लिए कहा हैं। गा्रम पंचायत ने भी लोगो के आवागमन को देखते हुए आश्रम के बाहर एक हेन्डपम्प खुदवाया हैं ताकी राहगीरो को पीने का पानी मुहैया हो सकें।
गणेशनाथजी ने बताया कि यदि लोगो का सहयोग रहा तो जल्द ही शिवजी व हनुमानजी के विशाल शिखर मन्दिर बनवाये जायेगें जिनके नक्शे बनवाये जा चुके हैं। लोगो को पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए अठकोण टंकी का निर्माण कीया जायेगा। मवेशीयो के लिए पानी की प्याउ भी बनायी जायेगी। इसके अतिरिक्त बाहर से आये हुये सन्तो एवं श्रृद्धालुओं के रात्रि विश्राम के लिए कमरो का निर्माण करवाया जायेगा। आश्रम के बाहर पार्कीगं के लिए समतलीकरण कीया जा रहा हैं। आने वाली गुरु पुर्णिमा पर भव्य समारोह का आयोजन कीया जायेगा तब तक यह आश्रम एक सुन्दर एवं पवित्र स्थान बन जायेगा।
लोगो का मानना हैं कि आश्रम के विकास की कई सम्भावनाएं हैं। मंगलवार व रविवार को लोगो की विशेष आवाजाही रहती हैं। आने वाले सभी अतिथीयों को आश्रम की तरफ से जलपान कराया जाता हैं। आप भी यदि आश्रम के विकास में अपना सहयोग या सुझाव देना चाहते हैं तो योगी गणेशनाथ-09571884330 से सम्पर्क करे।