News
Submitted by Surendra Purohit on 2014-02-26 07:48:55
Post News | Show All News

कबुतरो के लिए डाले गये खराब हुए अनाज में से कुछ को बचाया

कोशीवाडा मुख्य गांव के चैराये पर स्थित कबुतर खाने में रखा गया लगभग 4-5 क्विंटल मक्का खराब हो गया। लोगो द्धारा कबुतरो के लिए डाले गये दान पुण्य के इस मक्का की स्थिती यदि इतनी खराब होती हैं तो उसका कोई ओचित्य नही रह जाता। अनाज का इतना बुरा हाल जिसमें कुछ तो नीचे चिपक गया जिसे फावडे से हटाना पडा। कबुतर खाने की सीढीयो के नीचे एक छोटा सा कमरा बना हुआ हैं जिसमें लोग कबुतरो के लिए मक्का डालते हैं। सवेरे मांगीलाल हीरालाल जैन तथा अन्य युवाओं ने मक्का की इस स्थिती पर चिन्ता जताते हुए मक्का को साफ करने एवं सडे हुए तथा अधिक खराब हुए मक्का को बाहर फेंकने का निर्णय कीया। महीलाओं ने भी इस पुण्य काम में आग रह मक्का को साफ करने में सहयोग दिया। लगभग 2 क्विटंल मक्का तो बिल्कुल खराब हो चुका था जिसे बाहर फेंकना पडा। बाकी तीन क्विटंल मक्का को साफ कर महादेवजी मन्दिर, चारभुजाजी, आयुर्वेदिक चिकीत्सालय की छतो पर कबुतरो के लिए डाला। इस कार्य को मांगीलाल जैन के नेतृत्व में गणेशलाल राठौड, विनोद पुरोहित, पुष्कर पुरोहित, बंगाली बाबु, कैलाश माराज एवं कुछ महीलाओं ने मिल अंजाम दिया।