News
Submitted by Surendra Purohit on 2014-04-20 13:38:47
Post News | Show All News

तेज बारिश और ओलावृष्टि

मेरीजन्मभूमि शनिवार को लगभग एक घन्टे तक तेज बारिश, हवा और ओलावृष्टि का दौर चला। अस्सी वर्षीय गा्रमीण ने बताया कि इतने बडे ओले उन्होने भी पहली बार देखे। लगभग सौ और डेड सौ गा्रम के ओले गिरे। ओले गिरने से मवेशियों को भी चोटे आई वही लोगो को भी ओलो की चोट का सामना करना पडा। पेड पौधो ने जो हरियाली की चादर ओढ रखी थी वो भी हट गई सारे पत्ते नीचे गिर गये। बारिश चले जाने के घन्टो बाद तक भी सडक के कीनारे और खेतो मे ओले पडे रहे। खेतो में भी पानी भर गया। उन कीसानो की स्थिती और अधिक खराब हो गई जिनके गेंहु की फसले कटी हुई थी व गेहुं निकालने के इन्तजार में थे। इधर बारिश से मवेशियो के चारे की समस्या हो सकती हैं। खेतो में पडी कुट्टी गिली हो गई। गर्मी में बबुल की फली व पत्ते पशुओ के आहार का मुख्य साधन रहता हैं परन्तु बारिश ने इनको भी साफ कर दीया हैं। दुसरी तरफ आम के पेडो व महुओ से भी सारे छोटे छोटे फल नीचे गिर गये है।