News
Submitted by Surendra Purohit on 2014-09-20 17:00:57
Post News | Show All News

पत्नि की बीमारी से आर्थिक तंगी में मदद की गुहार

कोशीवाडा हनुमानजी की भागल निवासी हमेरसिंह राजपुत उम्र 52 की धर्मपत्नि  रुपाबाई की बीमारी के चलते इस परिवार का जीवन यापन मुश्किल हो गया है। हंसी खुसी से अपने दो बच्चो के साथ जीवन यापन कर रहे इस परिवार मे वर्ष 2005 में रुपाबाई के चलते चलते सडक पर गिर जाने से परेशानीयों के काले बादल छा गये। उदयपुर के सरकारी अस्पताल में एक छोटा आॅपरेशन हुआ और जैसे तैसे 6 वर्ष निकाले। वर्ष 2011 में स्थिती अधिक खराब होने से दोबारा आॅपरेशन करवाया। उसके बाद से रुपाबाई बिस्तर में पडी हुई हैं। बीमार पत्नि के ईलाज के लिए अहमदाबद और बाॅम्बे तक हमेरसिंह चक्कर लगा चुका पर निराशा ही हाथ लगी। इसी वर्ष अगस्त महीने में उदयपुर के निजी चिकीत्सालय में तीसरी बार आॅपरेशन करवाया जिसमें लगभग दो लाख रुपये खर्च हुए।
आर्थिक तंगी के चलते दोनो लडको को पढाई छुडवा कर नौकरी पर भेज दिया। परन्तु इससे ना तो घर खर्च चल पा रहा है और ना ही बीमार पत्नि के लिए दवाई। रिश्तेदारो और साहुकारो से ब्याज पर पैसे लेकर ईलाज तो करवा लिया लेकिन इनको अब पैसे कहां से लौटाएं। 
सरकारी मदद के रुप में रुपाबाई को विकलांग पेंशन के मात्र पांच सौ रुपये मिलते हैं। ऐसे में हमेरसिंह ने समाज एवं सरकार से मदद की गुहार लगाई हैं। सहयोग के इच्छुक व्यक्ति हमेरसिंह से मोबाईल नम्बर 09660588901 से सम्पर्क कर सकते हैं।